ANGEL BROKING

ANGEL BROKING   एक  लिमिटेड  कंपनी  है और  ये  एक भारतीय  फुल  सर्विस  स्टॉक ब्रोकिंग  कंपनी है जिसकी  स्थापना  सन 1987  में  हुई  थी और इसका  मुख्यालय मुंबई में  है 

पहले  कुछ वर्षो में एंजल ब्रोकिंग ने फ्लैट ब्रोकरेज शुल्क पर अपना ध्यान अधिक केंद्रित किया है 

यह फूल  सर्विस ग्राहकों  को कम शुल्क  के  साथ  मुक्त  रिसर्च  टिप्स  और  ऑफलाइन  उपस्थिति  भी  उपलब्ध  है 

आइये  इस एंजेल  ब्रोकिंग  के  विभिन्न  नियमों  को  देखते  है  जिसमे  आप यह  तय  कर सकता है  की ये आप के लिए कितना उपयोगी है

WHAT IS ANGEL BROKING

ANGEL  BROKING टेक्नोलॉजी पर आधारित टेक्नोलॉजी फाइनेंशियल  सर्विसेज  कंपनी है जो ब्रोकिंग  और एडवाइजरी सर्विसेज  के अलावा मार्टिन फंडिंग लोन अगेंस्ट  शेयर  ब्रोकिंग और कई तरह की फाइनेंशियल सर्विसेज  देती है

FEATURE OF ANGEL BROKING

ट्रेड पहले के ब्राउजर ट्रेंडिंग प्लेटफॉर्म ‘एंजेल आई ‘का सेक्शन है यह ब्राउज़र आधारित ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म कुछ समय से चल रहा है उपभोक्ता को इस प्लेटफार्म का प्रयोग करते समय कुछ इंस्टॉल करने की जरूरत  नहीं है और सीधे ही वेब ब्राउजर से ट्रेड कर सकता है

BENEFITS OF ANGEL BROKING

ट्रेडिंग अकाउंट निवेशन को अपनी व्यक्तिगत ट्रेडिंग सीमा निर्धारित करने की अनुमति देती है निवेशकों को ट्रेडिंग खाते का उपयोग करके स्टॉक ईटीएफ ,विदेशी मुद्रा ईटीएफ , और डेरिवेटिव खरीदने / बेचने की अनुमति है ट्रेडिंग अकाउंट के कुछ लाभ निचे दिए गए है 

 

– इसको सेट करना आसान है और टेलीफोन और ऑनलाइन  माध्यम से इस तक ऑफर करता है प्रतिभूति को खरीदने या बेचने के लिए निवेश को भौतिक  लेनदेन करने की आवश्यकता  नहीं करता है 

-यह सकता लाख और बिक्री के बीच संबंध को दर्शाता है यह एक निवेदन की लाभ प्रदाता की स्थिति की मदद करता है

What is a Demat Account

प्रारम्भ  में, स्टॉक और शेयर का विनिमय भौतिक रूप से प्रमाण पत्र के माध्यम से किया जाता था। हालांकि, इसमें लंबी कागजी कार्रवाई की जाती थी और इसमें काफी समय लगता था। इसका मुकाबला करने और एक इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का लाभ उठाने के लिए, जो पश्चिम और एशियाई बाजारों में लोकप्रिय काम फैला  है , 1996 में शेयर को मूर्त रूप देने (डिमैटेरियलाइजेशन) (डीमैट) की प्रक्रिया शुरू की गई थी। भौतिक शेयर प्रमाणपत्रों को समतुल्य संख्या और मूल्य के इलेक्ट्रॉनिक रूप प्रतिभूतियों में परिवर्तित किया गया और निवेश के डीमैट खाते में जमा किया गया। इस प्रकार, ट्रेडिंग का प्रादुर्भाव कुछ इस तरह से हुआ।

अधिक सरल तरीके से डीमैट खाते निवेश को आसानी  कागजी कार्रवाई की आवश्यकता के बिना शेयर और स्टॉक को खरीदने और बेचने के साथ-साथ अन्य उत्पादों की लेनदेन करने की अनुमति देते हैं।

ALSO READ ::  Multi Pools Full Business Plan

Where is Angel broking share holder register located

जैसा कि आपने पहले ही ऊपर देखा है, शेयर धारक रजिस्टर एक ऐसी सूची है जो स्पष्ट रूप से किसी कंपनी के मौजूदा मालिकों को निर्दिष्ट करती है। सक्रिय मालिकों के अलावा, रजिस्टर में उन लोगों के नाम भी शामिल हैं जिन्होंने पहले कंपनी में शेयरों का स्वामित्व लिया था।

शेयर धारक रजिस्टर एक वैध कानूनी दस्तावेज है जो हर एक कंपनी, चाहे निजी या सार्वजनिक, जो कंपनी अधिनियम के तहत पंजीकृत है उसके लिए बनाए रखना आवश्यक है। इसमें ये कंपनियां भी शामिल हैं जिन्होंने शेयर बाजारों में अपने शेयरों को सूचीबद्ध किया है। कंपनी अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार, शेयरधारक रजिस्टर एक सार्वजनिक दस्तावेज है जिसका निरीक्षण कंपनी के निवेशकों और नियमित जनता दोनों द्वारा किया जा सकता है।

चूंकि शहरों के मालिक कंपनी में हर एक दिन लगातार बदल रहे हैं, इसलिए इकाई आम तौर पर हर दिन के अंत में शेयरधारक रजिस्टर को अद्यतित करती है। और इसलिए, रजिस्टर का निरीक्षण करते समय, एक निवेशक आमतौर पर किसी विशेष दिन के अंत में रजिस्टर का अनुरोध कर सकता है।

What information should be included in the shareholder register

  • शेयर धारक का नाम और पता
  • जिस तारीख पर शेयर धारक कंपनी का सदस्य बना।
  • शेयर धारक द्वारा रखे गए शेयरों की संख्या
  • शेयर प्रमाण पत्र संख्या या शेयर धारक द्वारा आयोजित शेयरों की क्रमांक  संख्या

इस जानकारी में कोई भी बदलाव कंपनी द्वारा आयोजित किया जाना चाहिए। इन के अलावा, रजिस्टर में खुद शेयरों के निम्नलिखित विवरण भी शामिल होंगे।

  • जनता के लिए जारी किए गए शेयरों की संख्या।
  • शेयरो के उक्त वर्ग की जारी करने की तारीख।
  • शेयरो  की स्थिति (शेयरो का भुगतान किया गया है या नहीं)।

 

Angel broking demat account types

  • नियमित डीमैट खाता- भारत में रहने वाले व्यापारी इस प्रकार के खाते का उपयोग करते हैं।
  •  रिपैट्रिएबल डीमैट खाता – यह खाता अनिवासी भारतीयों के लिए उपयोगी है क्योंकि यह विदेश में धन हस्तांतरण की अनुमति देता है। इसके लिए एक संबद्ध एनआरई बैंक खाते की आवश्यकता है।
  • नॉन-रिपैट्रिएबल डीमैट खाता – यह खाता भी अनिवासी भारतीयों के लिए है। हालांकि, इस मामले में, धन विदेश में स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है, और इस खाते में एक N R O  बैंक खाते की आवश्यकता है।
ALSO READ ::  MAGIC CASH FULL BUSINESS PLAN

 

ONLINE TRADING IN SHARE MARKET

एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड भारत में सबसे बड़े स्वतंत्र पूर्ण-सेवदायक ब्रोकिंग हाउस में से एक है जो प्रत्येक ऑनलाइन शेयर व्यापारी के लिए स्टिक  और व्यापक डेटा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। एंजेल ब्रोकिंग को भारतीय ऑनलाइन ब्रोकरेज उद्योग को कवर करने वाले वेब पर स्वतंत्र डेटाबेस का घर माना जाता है। दो दशकों से अधिक के हमारे अनुभव ने हमें ब्रोकिंग उद्योग में अपने ज्ञान और विशेषज्ञता को उस तकनीक के साथ एकीकृत  करने में मदद की है जो हम अपने ग्राहकों को विभिन्न प्लेटफार्मों के माध्यम से प्रदान करते हैं।

 

एंजेल ब्रोकिंग एक सुरक्षित, निर्बाध, ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है। यह स्टॉक ट्रेडिंग एप्लिकेशन आपके निवेश को ऑनलाइन ट्रैक करने में मदद करता है*। तकनीकी विश्लेषण और पोर्टफोलियो रखरखाव सेवाओं के लिए विशेषज्ञ अनुसंधान। सभी सेगमेंट में डिलीवरी ट्रेड और ट्रेड पर जीरो ब्रोकरेज पर तुरंत लाइफटाइम फ्री डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग खोलें। पेपरलेस और परेशानी मुक्त साइन अप टॉप क्लास कस्टमर सपोर्ट के साथ|



DOWNLOAD

सबसे पहले हम आपको बताने जा रहे हैं आपको ANGEL BROKING एप्लीकेशन को कैसे आपको डाउनलोड करना है।

सबसे पहले आप प्ले स्टोर पर जाकर ANGEL BROKING एप्लीकेशन को सर्च करके डाउनलोड करे 

how to open account online with angel broking

Step . 1 – angel broking के साथ  डीमैत खाता खोलने के लिए लिड फॉर्म भरे। 

Step . 2 – पंजीकृत नंबर पर मिले otp को दर्ज करे। 

Step . 3 – आधार कार्ड , पैन नंबर।, ई मेल का पता और बैंक का खाता का की पूरी जानकारी भरे। 

Step . 4 – आपके डीमैट खाते की जानकारी आपके पंजीकृत ईमेल पते पर आपको भेजा जाता है। 



Signup.

हम आपको बताने जा रहे हैं आपको ANGEL BROKING मैं कैसे आपको Signup करना है।

ANGEL BROKING को ओपन करके वहां  पर रजिस्टर का ऑप्शन मिलेगा उसपे क्लिक करके जहां पर आप को खुद की Personal information update कर देना है। 

उसके बाद आपका SIGNUP का पेज ओपन होगा जिसमे आपको स्पॉन्सर ID पहले से मिल जाएगी सेकंड ऑप्शन में आपको अपना नाम लिखना है थर्ड ऑप्शन में अपना मोबाइल नंबर डालना है  उसके बगल में GET OTP लिखा होगा उसपे क्लिक करके आपके मोबाइल पर एक otp आएगी उसको एंटर otp में लिखना है फोर्थ ऑप्शन में अपने घर का address लिखना है फिफ्थ  ऑप्शन मे pincode लिखना है पिन कोड के बगल में लाइव लोकेशन का ऑप्शन दिया है उस पर क्लिक करके अपनी लाइव लोकेशन डालना है सिक्थ ऑप्शन में आपको अपने सिटी का नाम और स्टेट का नाम लिखना है उसके नीचे आपको i agree with terms and condition पर tick करके sign up पर क्लिक करना है इससे आपको एक login id मिल जाएगी। 

ALSO READ ::  Real Donate Club Full Business Plan

पैन कार्ड kyc का ऑप्शन आएगा जिसमें लिखा होगा पैन कार्ड इस पेंडिंग ये विंडो आपको अपनी kyc कम्पलीट करने के लिए बताना और आप kyc कम्पलीट करने के लिए इसे use करे यदि आप पैन कार्ड नंबर एंटर नहीं करते है तो आपकी इनकम पर TDS /as per income के अनुसार लागू होगा तो अब जानते है kyc कैसे कम्पलीट करे तो kyc कम्प्लीट करने के लिए जिस window का जिक्र हमने पहले किया था उसी window में दो ऑप्शन होंगे pancard और close तो अपनी kyc कम्प्लीट करने के लिए आप pancard वाले option पर क्लिक करेंगे और अपना pan number , DOB , और gender डालने  के बाद submit for verification पर click करेंगे और ये सब करने के बाद आप आप अपनी profile में जाएंगे और आप देख पाएंगे की आपको pan card successful अपडेट हो चुका है अब बात करते है 

basic info fill करने की तो दोस्तों basic info के लिए निचे दिए गए more ऑप्शन पर क्लिक करेंगे और जैसे ही click करेंगे तो सामने सबसे पहले ऑप्शन basic info दिखेगा उस ऑप्शन पर जाने के बाद अपनी email id , nominee का नाम age और साथ ही साथ आपका nominee का साथ क्या relation है ये सब चीज़े सेलेक्ट करके submit पर click करे और उसके बाद आप देख पायेंगे basic इन्फो sucessfuly update हो चुका है

तो देखा आपने दोस्तों कितना आसान है ANGEL BROKING की registration ,kyc , basic info भरना तो देर न करें आज ही playstore पर जा के  ANGEL BROKING एप्लीकेशन डाउनलोड करें और विजिट करे हमारी website www.angelbrokingindia.com

Angel Broking Conclusion

जैसा कि आपने पहले ही देखा है, शेयर धारक रजिस्टर एक बहुत ही महत्वपूर्ण  दस्तावेज है जिसे हर कंपनी को बनाए रखने के लिए आवश्यक है। चूंकि यह नियामक अनुपालन का एक हिस्सा बनाता है, इसलिए किसी भी प्रावधान का उल्लंघन करने से जुर्माना लग सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »

EARN 1500$/MONTH WORLD BEST PLATFORM

X